संपादकीय लेख


volume-20, 17-23 August 2019

कौशल विकास एवं उद्यमिता मंत्रालय ने राष्ट्रीय उद्यमिता

पुरस्कार, 2019 के चौथे संस्करण की घोषणा की

 

देश के प्रतिभाशाली उद्यमियों की सराहना करने एवं उन्हें प्रोत्साहित करने और युवाओं में उद्यमिता की भावना को तेजी से विकसित करने के उद्देश्य से कौशल विकास एवं उद्यमिता मंत्रालय द्वारा शुरू किए गए राष्ट्रीय उद्यमिता पुरस्कारों के चौथे संस्करण के लिए नामांकनों की शुरुआत कर दी गई है. राष्ट्रीय उद्यमिता पुरस्कार (एनईए) 2019 का उद्देश्य पहली पीढ़ी के प्रतिभाशाली युवा उद्यमियों और पारिस्थितिकी निर्माताओं को उद्यमिता विकास में उनके उल्लेखनीय योगदान के लिए सम्मानित करना है.

भारत सरकार राष्ट्रीय उद्यमिता पुरस्कार के जरिये सर्वाधिक अभिनव, प्रेरणादायक और निपुण छोटे उद्यमियों को अपना व्यवसाय बढ़ाने के लिए पुरस्कृत करेगी. इस पुरस्कार समारोह का आयोजन इस वर्ष 9 नवम्बर को होगा.

इसके तहत विशेष रूप से तैयार किए गए कुल 45 पुरस्कार प्रदान किए जायेंगे, जिनमें उद्यमों के लिए 39 पुरस्कार और उद्यमिता पारिस्थितिकी निर्माताओं के लिए 6 पुरस्कार शामिल हैं. इन पुरस्कारों का पात्र होने के लिए नामित उद्यमी की उम्र 40 साल से कम होनी चाहिए, उन्हें  प्रथम पीढ़ी का उद्यमी होना चाहिए, नामित (उद्यमी) के पास अवश्य ही 51 प्रतिशत अथवा उससे अधिक इक्विटी के साथ-साथ व्यवसाय का स्वामित्व होना चाहिए और महिला उद्यमियों के पास संयुक्त रूप से उद्यम की 75 प्रतिशत या उससे अधिक इक्विटी होनी चाहिए.

कौशल विकास एवं उद्यमिता मंत्री डॉ. महेन्द्र  नाथ पांडेय ने इस अवसर पर कहा कि इस वर्ष राष्ट्रीय उद्यमिता पुरस्कार प्रदान किए जाने का चौथा वर्ष है और मैं इस पहल में उद्यमियों द्वारा निरंतर दिखाई जा रही दिलचस्पी से अत्यंत प्रसन्न हूं. उन्होंने कहा कि हर भारतीय को कुशल बनाने तथा युवाओं को उद्यमिता के लिए प्रोत्साहित करने संबंधी प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी के विजन ने हमें इस तरह की कई पहलों के लिए प्रेरित किया है. श्री पांडेय ने कहा कि रोज़गार सृजकों के रूप में उद्यमी देश में इससे भी अधिक योगदान करने में समर्थ हैं.

उन्होंने कहा कि वार्षिक पुरस्कारों का उद्देश्य उन व्यक्तियों अथवा संगठनों की पहचान करना है, जिन्होंने भारत के उद्यमिता युक्त माहौल को विकसित करने में उल्लेखनीय योगदान दिया है.

कौशल विकास एवं उद्यमिता मंत्रालय द्वारा आयोजित भव्य पुरस्कार समारोह में विजेताओं का अभिनन्दन किया जाएगा और उन्हें एक ट्रॉफी, प्रमाण पत्र और 5 लाख रुपये का नकद पुरस्कार (उद्यम/व्यक्ति) और 10 लाख रुपये का नकद पुरस्कार (संगठन/संस्थान) दिया जाएगा.

नामांकन और श्रेणियों से जुड़ी विस्तृत जानकारी http://www.neas.gov.in/ पर उपलब्ध है.

 

-पसूका