संपादकीय लेख


Volume-7

जेईई एडवांस 2017 : अधिक अंक प्राप्त करने के आसान उपाय

रुचि श्रीमाली

जेईई (मुख्य) 2017 के परिणाम 27 अपै्रल, 2017 को घोषित किए गए थे. इस प्रतिष्ठित जेईई (मुख्य) परीक्षा के लिए पंजीकरण भी समाप्त हो चुका है. अब, इंजीनियरी उम्मीदवार आई.आई.टी. सीट के लिए अपनी अंतिम स्पर्धा की तैयारी कर रहे हैं क्योंकि जेईई एडवांस 21 मई, 2017 को संचालित की जा रही है. इस लेख में, आपको वे सभी विवरण मिलेंगे जो इस वर्ष भारत की अत्यधिक आकर्षक इंजीनियरी प्रवेश परीक्षा में बैठने के लिए आपके लिए आवश्यक हंै.
पात्रता मानदण्ड
जेईई मुख्य परीक्षाओं के प्रथम 2, 20, 000 रैंक प्राप्त उम्मीदवारों का जेईई एडवांस परीक्षा के लिए पंजीकरण किया गया. मैरिट सूची में आरक्षित श्रेणी के उम्मीदवार भी शामिल हैं और उन्हें निम्नानुसार वितरित किया जाता है:-
जेईई एडवांस परीक्षा में केवल वे उम्मीदवार बैठ सकते है जिनका जन्म 01 अक्टूबर, 1992 को या उसके बाद हुआ है और जो अपनी 10 +2 या इंटरमीडिएट परीक्षाओं में 2016 या 2017 में बैठे हैं. इसका अर्थ यह हुआ कि कोई भी प्रतिस्पर्धी 25 वर्ष से अधिक आयु का नहीं होगा.
यद्यपि अजा, अजजा एवं शारीरिक विकलांग उम्मीदवारों के लिए आयु-सीमा में 5 वर्ष की छूट है.
ध्यान रखें, जेईई (एडवांस्ड) परीक्षा में आप केवल दो बार ही बैठ सकते हैं- और वह भी लगातार दो वर्षों तक. यदि आप जेईई परीक्षा में इस वर्ष बैठ रहे हैं तो आपको अगले वर्ष एक और अवसर मिल सकता है. किंतु यदि यह आपका दूसरा अवसर है तो आई.आई.टी. उत्तीर्ण करने का यह आपका अंतिम अवसर है.
परीक्षा कार्यक्रम
जेईई  एडवांस परीक्षा संयुक्त प्रवेश बोर्ड (जेएबी) 2017 के अधीन सात क्षेत्रीय आई.आई.टी. द्वारा संचालित की जाती है. इसके दो प्रश्न-पत्र होते हैं और दोनों अनिवार्य होते हैं.
21 मई, 2017, जो रविवार का दिन है :
*प्रश्न-पत्र-1 प्रात: कालीन सत्र में प्रात: 9 बजे से दोपहर-12 बजे तक संचालित किया जाएगा.
*प्रश्न-पत्र-2 दोपहर बाद के सत्र- दोपहर 2 बजे से अपराह्न 5 बजे तक लिया जाएगा.
जेएबी घोषणा के अनुसार, जेईई एडवांस परीक्षा की तारीख में परिवर्तन नहीं किया जाएगा, भले ही वह तारीख कोई सार्वजनिक अवकाश के रूप में घोषित की गई हो.
लेखक (स्क्राइब) का उपयोग करने वाले उम्मीदवारों को प्रत्येक परीक्षा के लिए एक घंटा अतिरिक्त दिया जाएगा. अर्थात वे प्रश्न-पत्र-1 दोपहर 1 बजे तक तथा प्रश्न-पत्र-2 अपराह्न 6 बजे तक कर सकते हैं. दृष्टिहीन, डिसलेक्सिक,अपने हाथ या अंगुलियां खो चुके उम्मीदवार या भुजा विकलांग व्यक्ति लेखक की सेवाएं लेने का अनुरोध कर सकते हैं. वे अपना निजी लेखक नहीं ला सकतें.
उम्मीदवार अपने प्रवेश-पत्र 10 मई (प्रात: 10 बजे से) से 21 मई, 2017 (प्रात: 9 बजे तक) तक डाउनलोड कर सकते हैं.
परीक्षा के बाद, छात्र अपनी ओ. आर. एस. पुस्तिका की स्कैन्ड प्रति 31 मई (प्रात: 10 बजे से) से देख सकते हैं. उत्तर कुंजियां 04 जून (प्रात: 10 बजे) को ऑनलाइन प्रकाशित की जाएंगी.
जेईई  एडवांस 2017 के परिणाम 11 जून, 2017 को (प्रात: 10 बजे) घोषित किए जाएंगे.
जेईई  एडवांस्ड परीक्षा प्रारूप :
जेईई  एडवांस के दो प्रश्न-पत्र हैं. दोनों प्रश्न-पत्रों के तीन खंड हैं-भौतिकी, रसायन विज्ञान और गणित- और ये तीन घंटों के हैं. दोनों प्रश्न-पत्रों में बैठना छात्रों के लिए अनिवार्य है.
प्रश्नों की प्रकृति : जेईई  एडवांस प्रश्न-पत्रों में ऑबजेक्टिव प्रकृति के प्रश्न होते हैं. इनमें बहुविकल्प वाले प्रश्न (एम.सी.क्यू.) तथा संख्यात्मक उत्तर प्रकृति के प्रश्न निहित होते हैं, जो छात्रों की कम्प्रीहेंसन, तर्क संगतता एवं विश्लेषिक क्षमता की जांच के लिए होते हैं.
गलत उत्तरों के अंक काटना : परीक्षा में प्रश्नों के अनुमानित उत्तर लिखने से रोकने के लिए गलत उत्तरों के अंक काटे जाते हैं.
प्रश्न-पत्र की भाषा : इस वर्ष प्रश्न-पत्र केवल अंगे्रजी या हिंदी में उपलब्ध होंगे. प्रश्न-पत्र आपको उस भाषा में दिया जाएगा जो भाषा आपने परीक्षा के लिए पंजीकरण के समय चुनी होगी.
जेईई एडवांस 2017 संचालित कर रहे आई.आई.टी मद्रास ने अपनी परीक्षा पद्धति जारी नहीं की है. इसलिए, प्रश्न-पत्रों का उत्तर लिखना प्रारंभ करने से पहले आपको अनुदेश अत्यधिक ध्यानपूर्वक पढऩे होंगे. तथापि, परीक्षा में किस तरह के प्रश्न आएंगे इसका कुछ अनुमान लगाने के लिए आप पिछले वर्ष की जेईई एडवांस परीक्षा पद्धति देख सकते हैं :-
पिछले वर्ष, तीनों में से प्रत्येक विषय से 18 प्रश्न पूछे गए थे. प्रश्न-पत्र-1 एवं प्रश्न-पत्र-2 के कुल अंक संचयी रूप में 372 अंक थे.
यह नोट कर लें कि प्रश्न-पत्र-1 में एक अंक इंटीगर प्रकृति के प्रश्नों और प्रश्न-पत्र-2 में कम्प्रीहेंसन या मैचिंग- लिस्ट प्रकृति के प्रश्नों के गलत उत्तरों के लिए नकारात्मक अंक नहीं थे. इसका अर्थ यह है कि आप यहां कुछ स्वतंत्रता ले सकते हैं और अपने उत्तरों का अनुमान लगा सकते हैं.
दोनों प्रश्न-पत्रों में भाग-ढ्ढ सामान्य भौतिकी, भाग-2 रसायन विज्ञान और भाग-3 गणित का होता है. पिछले वर्ष, कई छात्र मुख्य भाग पूरा नहीं कर सके क्योंकि उसके लिए पर्याप्त समय नहीं बचा था इसलिए, अपना जेईई एडवांस प्रश्न-पत्र समय पर पूरा करने में समर्थ होने के लिए यह सुनिश्चित कर लें कि इस वर्ष आपने बेहतर समय-प्रबंधन किया है.
जेईई  एडवांस 2016 में बैठे कई छात्रों ने बताया कि दोनों प्रश्न-पत्रों में भौतिकी भाग संकल्पनात्मक और कठिन था और सभी प्रश्नों का उत्तर एक घंटे में देना आसान नहीं था.
प्रश्न-पत्र-1 में भौतिकीय, कार्बनिक तथा अकार्बनिक, रसायन विज्ञान लगभग समान वेटेज के थे. भौतिकीय एवं कार्बनिक रसायन विज्ञान के प्रश्न सामान्य (मॉडरेट) स्तर के थे. प्रश्न फंडामेंटल पर आधारित थे किंतु कुछ बहकाने वाले भी थे. प्रश्न-पत्र-2 में कार्बनिक रसायन विज्ञान के प्रश्न कठिन थे जबकि भौतिकीय एवं अकार्बनिक रसायन विज्ञान के प्रश्न सामान्य स्तर के थे.
पिछले वर्ष प्रश्न-पत्र-1 एवं प्रश्न-पत्र-2 में गणित का भाग तुलनात्मक रूप से कठिन था और कुछ लंबा भी था.
आई.आई.टी. प्रति वर्ष कुछ न कुछ आश्चर्य देते हैं किंतु प्रश्न-पत्र का स्तर वर्ष दर वर्ष समान रूप से कठिन होता है. इसलिए यदि अच्छा अभ्यास करते हैं तो वास्तविक परीक्षा के दिन भी अच्छा करने में सक्षम हो सकेंगे.
तैयार किए जाने वाले महत्वपूर्ण विषय :
जेईई एडवांस पाठ्यक्रम विस्तृत है और जब तक आप परीक्षा में प्रश्न-पत्र नहीं खोलते तब तक आप यह सुनिश्चित नहीं कर सकते कि परीक्षा में कितने और किस विषय से प्रश्न पूछे जाएंगे. इसलिए सभी विषयों की तैयारी करना महत्वपूर्ण है. तथापि, आई.आई.टी. कोचिंग विशेषज्ञ कुछ ऐसे विषयों की तैयारी करने का सुझाव देते हैं जिनकी तैयारी करने से आपको जेईई परीक्षा में अधिक अंक प्राप्त करने में सहायता मिलने की संभावना होती है.
गणित
*3डी एवं वेक्टर्स
*क्वाड्रेटिक इक्वेशन
*प्रोबेबिलिटी
*सिक्वेंस एवं सिरीज़
*कॉम्प्लेक्स नंबर
*डिफरेंशियल कैलकुलस
*इंटिगरल कैलकुलस
*मैट्रिक्स एवं डिटर्मिनेंट भौतिकी
*रोटेशनल मैकेनिक्स
*करंट इलेक्ट्रिसिटी
*हीट एवं थर्मोडायनामिक्स
*इलेक्ट्रो स्टेटिक्स
*मैग्नेटिक इफेक्ट एवं पावर
*एस.एच.एम. एवं वेव्ज
रसायन विज्ञान
*केमिकल बोडिंग एवं पीरियोडिक टेबल्स
*पीरियोडिक प्रोपर्टीज
*केमिकल कायनेटिक्स
*ट्रांजिशनल एलीमेंट्स (डी एवं एफ ब्लॉक एलीमेंट्स)
*मोल कॉन्सेप्ट तथा कॉन्सेप्ट ऑफ इक्विवेलेंट्स
*सॉलिड स्टेट
*सामान्य कार्बनिक रसायन विज्ञान
*रिडोक्स रिएक्शन्स
*ऑयोनिक इक्विलिब्रियम
*थर्मो कैमिस्ट्री और सेकेण्ड लॉ ऑफ थर्मोडायनामिक्स
अधिक शिक्षक इस तथ्य से सहमत हैं कि जी एडवांस परीक्षा में पूछे जाने वाले 40 प्रतिशत प्रश्न आसान, 30 प्रतिशत प्रश्न सामान्य रूप से कठिन स्तर के और 30 प्रतिशत कठिन होते हैं. सलाह दी जाती है कि परीक्षा में अधिक अंक प्राप्त करने में समर्थ होने के लिए आसान एवं सामान्य स्तर के प्रश्नों पर ध्यान दिया जाए.
जेईई (एडवांस्ड) 2017 परीक्षा के लिए आपका लक्षित न्यूनतम तैयारी स्तर ऐसा हो कि आप सभी तीनों विषयों के सभी अध्यायों से आसान प्रश्न और अपनी सबसे अधिक पसंद वाले अध्याय से कठिन प्रश्नों का उत्तर लिखने में सक्षम हो सकें.
 
प्रश्न-पत्र-१: परीक्षा पद्धति
प्रश्नों की कुल संख्या : ५४       कुल अंक : १८६ सेटों की सं: १० (सेट ० से ९)
 
प्रश्न की प्रकृति- एक सही विकल्प
प्रश्नों की सं.-5                             
पूर्ण अंक-+3 यदि केवल सही विकल्प के सामने वाले गोले को काला किया जाता है                  
आंशिक अंक--
शून्य अंक-0- यदि किसी भी गोले को काला नहीं किया जाता है
नकारात्मक अंक--1 अन्य सभी मामलों में
खंड के अधिकतम अंक-15
 
प्रश्न की प्रकृति- एक या अधिक सही विकल्प
प्रश्नों की सं.-8                             
पूर्ण अंक-+4 यदि केवल सभी सही विकल्प (पों) के सामने वाले गोले(लों) को काला किया जाता है       
आंशिक अंक-+1 प्रत्येक सही विकल्प के सामने वाले एक गोले को काला करने के लिए, किंतु कोई भी गलत विकल्प काला नहीं किया गया हो.
शून्य अंक-0- यदि किसी भी गोले को काला नहीं किया जाता है नकारात्मक अंक--1 अन्य सभी मामलों में
नकारात्मक अंक--2 अन्य सभी मामलों में
खंड के अधिकतम अंक-32
                    
प्रश्न की प्रकृति- एक अंक इंटीगर (0-9)
प्रश्नों की सं.-5                             
पूर्ण अंक-+3 यदि केवल सही उत्तर के सामने वाले गोले को काला किया जाता है              
आंशिक अंक--
शून्य अंक-0अन्य सभी मामलों में है
नकारात्मक अंक--
खंड के अधिकतम अंक-15
 
प्रश्न-पत्र-2: परीक्षा पद्धति
प्रश्नों की कुल संख्या : 54 कुल अंक : 186        सेटों की सं: 10 (सेट 0 से 9)                           प्रश्न प्रश्न की प्रकृति- एक सही विकल्प
प्रश्नों की सं.-6                             
पूर्ण अंक-+3 यदि केवल सही विकल्प के सामने वाले गोले को काला किया जाता है                  
आंशिक अंक--
शून्य अंक-0 यदि कोई भी गोला काला नहीं किया जाता है.
नकारात्मक अंक-1 अन्य सभी मामलों में
खंड के अधिकतम अंक-18
                               
प्रश्न की प्रकृति- एक या अधिक सही विकल्प      
प्रश्नों की सं.-6                             
पूर्ण अंक-+4 यदि केवल सभी सही विकल्प(पों) के सामने वाले गोले(लों) को काला किया जाता है.       
आंशिक अंक--
शून्य अंक-+1 प्रत्येक सही विकल्प के सामने वाले एक गोले को काला करने के लिए, किंतु किसी गलत विकल्प को काला   नहीं किया गया हो.
नकारात्मक अंक--2 अन्य सभी मामलों में 
खंड के अधिकतम अंक-32
 
प्रश्न की प्रकृति- मैचिंग-सूची प्रकृति के प्रश्न
प्रश्नों की सं.-4                             
पूर्ण अंक+3 यदि केवल सही उत्तर के सामने वाले गोले को काला किया जाता है.
आंशिक अंक--
शून्य अंक-+1 प्रत्येक सही विकल्प के सामने वाले एक गोले को काला करने के लिए, किंतु किसी गलत विकल्प को काला   नहीं किया गया हो.
नकारात्मक अंक-0 अन्य सभी मामलों में         
खंड के अधिकतम अंक-12
                    
जेईई एडवांस परीक्षा उत्तीर्ण करने के बाद आप कहां जा सकते हैं?
भारतीय प्रौद्योगिकी संस्थान (आईआईटीज) भारतीय मंच की संस्थाएं हैं और इन्हें इनकी उत्कृष्ट संरचनाओं तथा गुणवत्ता  पूर्ण अध्यापन के लिए जाना जाता है. आईआईटी के संकाय सदस्य तथा पूर्व- छात्र भारत तथा विदेश में प्रतिष्ठित शिक्षाविद् एवं उद्योग विशेषज्ञ के रूप में जाने जाते हैं.
इस समय भारत में- सात जोनों में-23 आईआईटी हैं- जिन्हें आप अपना लक्ष्य बना सकते हैं:
पूर्वी जोन :
1.भारतीय प्रौद्योगिकी संस्थान, खडग़पुर (आई.आई.टी.-के.जी.पी.)
2.भारतीय प्रौद्योगिकी संस्थान भुवनेश्वर (आई.आई.टी-बी.बी.एस)
3.भारतीय प्रौद्योगिकी संस्थान (आई.एस.एम.) धनबाद (आई.आई.टी.-आई.एस.एम) पहले केवल भारतीय खनि विद्यापीठ या आई.एस.एम. धनबाद नाम से प्रसिद्ध था.
मध्य जोन
4.भारतीय प्रौद्योगिकी संस्थान कानपुर (आई.आई.टी.-के)
5.भारतीय प्रौद्योगिकी संस्थान भिलाई (आई.आई.टी.-बी.एच.)
6.भारतीय प्रौद्योगिकी संस्थान (बी.एच.यू.) वाराणसी (आई.आई. टी.-बी.एच.यू.) पहले केवल बनारस हिंदू विश्वविद्यालय (बी.एच.यू.) के नाम से प्रसिद्ध था.
7.भारतीय प्रौद्योगिकी संस्थान इंदौर
(आई.आई.टी.-आई)
उत्तर-मध्य जोन
8.भारतीय प्रौद्योगिकी संस्थान दिल्ली
(आई.आई.टी.-डी)
9.भारतीय प्रौद्योगिकी संस्थान जम्मू
(आई.आई.टी.-जेएम)
10.भारतीय प्रौद्योगिकी संस्थान जोधपुर (आई.आई.टी.-जे)
उत्तर-पूर्वी जोन
11.भारतीय प्रौद्योगिकी संस्थान गुवाहाटी (आई.आई.टी.-जी)
12.भारतीय प्रौद्योगिकी संस्थान पटना
(आई.आई.टी.-पी)
उत्तरी जोन
13.भारतीय प्रौद्योगिकी संस्थान रुडक़ी
(आई.आई.टी.-आर)
14.भारतीय प्रौद्योगिकी संस्थान मंडी
(आई.आई.टी.-मंडी)
15.भारतीय प्रौद्योगिकी संस्थान रोपड़
(आई.आई.टी.-आरपीआर)
दक्षिणी जोन
16.भारतीय प्रौद्योगिकी संस्थान मद्रास
(आई.आई.टी.-एम)
17.भारतीय प्रौद्योगिकी संस्थान हैदराबाद (आई.आई.टी.-एच)
18.भारतीय प्रौद्योगिकी संस्थान पलक्कड़ (आई.आई.टी.-पीकेडी)
19.भारतीय प्रौद्योगिकी संस्थान तिरुपति (आई.आई.टी.-टीपी)
पश्चिमी जोन
20.भारतीय प्रौद्योगिकी संस्थान बंबई
(आई.आई.टी.-बी)
21.भारतीय प्रौद्योगिकी संस्थान धारवाड़ (आई.आई.टी.-डीडब्ल्यूडी)
22.भारतीय प्रौद्योगिकी संस्थान गांधी नगर (आई.आई.टी.-जीएन)
23.भारतीय प्रौद्योगिकी संस्थान गोवा
(आई.आई.टी.-गोवा)
जेईई एडवांस परीक्षा आपको विभिन्न आई.आई.टी. द्वारा चलाए जाने वाले सभी स्नातक डिग्री पाठ्यक्रमों, एकीकृत मास्टर कार्यक्रमों और दोहरे डिग्री कार्यक्रमों (10 + 2 स्तर पर प्रवेश सहित) में प्रवेश दिला सकती है.
उम्मीदवारों के जेईई एडवांस रैंक के आधार पर उन्हें प्रवेश देने वाले संस्थान इस प्रकार हैं:-
*भारतीय विज्ञान शिक्षा एवं अनुसंधान संस्थान (आई.आई.एस.ई.आर) बरहामपुर, भोपाल, कोलकाता, मोहाली, पुणे, तिरुवनंतपुरम और तिरुपति.
*भारतीय अंतरिक्ष विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी संस्थान (आई.आई.एस.टी.), तिरुवनंतपुरम
*राजीव गांधी पेट्रोलियम प्रौद्योगिकी संस्थान, (आर.जी.आई.पी.टी.), राय बरेली
*भारतीय पेट्रोलियम एवं ऊर्जा संस्थान, विशाखापत्तनम
यद्यपि आपको इन संस्थानों से उनकी प्रवेश-प्रक्रियाओं के बारे में व्यक्तिगत रूप से पूछताछ करनी पड़ सकती है.
5. आई.आई.टी. जेईई परीक्षा के दिन ध्यान में रखे जाने वाली मुख्य बातें
1.परीक्षा केन्द्र में अपने साथ अपने प्रवेश पत्र की एक मुद्रित प्रति, एक मूल फोटो पहचान-पत्र, एक पेंसिल और एक काला बाल प्वाइंट पेन ले जाना न भूलें. आप परीक्षा भवन के अंदर डिजिटल घड़ी, अध्ययन सामग्री, रिवीजन-शीट, ज्योमेट्री बॉक्स, कैलकुलेटर, स्मार्ट फोन या अन्य इलेक्ट्रॉनिक उपकरण सहित अन्य कोई सामग्री नहीं ले जा सकते.
2.अंगूठी, ब्रेसलेट, कान की बालियां, पेंडेंट और धातु के बड़े बटन वाले कपड़े परीक्षा के दिन नहीं पहने.
3.परीक्षा भवन में समय पर पहुंचे. विलंब से प्रवेश करने की अनुमति किसी भी मामले में नहीं दी जाएगी. इसी तरह आप परीक्षा पूरी होने अर्थात् परीक्षा के तीन घंटों के पूरा होने तक परीक्षा भवन से बाहर नहीं जा सकते.
4.ओ.आर.एस. पुस्तिका में अपने उत्तर केवल काले बॉल प्वाइंट पेन से अंकित करें. उपयुक्त गोलों को पूरी तरह से काला कर दें.
5.यह ध्यान रखें कि ओ.आर.एस. के दो पृष्ठों को किसी भी परिस्थिति में अलग न करें या उन के संरेखण (एलाइनमेंट) को विकृत न करें. परीक्षा के बाद आपको दूसरा पृष्ठ बाद के संदर्भ के लिए दिया जाएगा.
लेखिका नई दिल्ली स्थित कॅरिअर काउंसलर हैं. ई-मेल : rruchishrimalli@gmail.com स्पष्टीकरण : परीक्षा से संबंधित सभी विवरणों की जांच जेईई एडवांस २०१७ की आधिकारिक वेबसाइट https://www.jeeadv.ac.in/पर भी की जा सकती है.