विशेष लेख


Volume-3, 21-27April, 2018

 

तमिल में तीन हेरिटेज गांधीवादी साहित्यिक पुस्तकें जारी

चम्पारण सत्याग्रह शताब्दी पूरी होने के अवसर पर प्रकाशन विभाग ने गांधीवादी विचारधारा और मूल्यों पर तीन महत्वपूर्ण पुस्तकों के तमिल संस्करण 10 अप्रैल, 2018 को चेन्नई में जारी किये। ये पुस्तकें गांधी राष्ट्रीय संग्रहालय, नई दिल्ली के सहयोग से प्रकाशित की गई थीं। इन पुस्तकों को श्रीमती प्रभा श्रीदेवन, मद्रास हाई  कोर्ट की पूर्व न्यायाधीश और जानीमानी लेखिका ने जारी किया।

ये पुस्तकें हैं: चम्पारण में गांधी (प्रमुख गांधीवादी विद्वान डी जी तेंदुलकर), बापू के साथ (कनु और आभा गांधी) और गांधी तथा एक शब्द।  इनका अनुवाद गांधी अध्ययन वृत्त, चेन्नई ने उपलब्ध कराया। इस अवसर पर न्यायमूर्ति श्रीमती प्रभा श्रीदेवन ने गांधीवादी साहित्य की बहाली में प्रकाशन विभाग के प्रयासों की प्रशंसा की। श्री ए अन्नामलै, मानद निदेशक, गांधी राष्ट्रीय संग्रहालय ने सूचित किया कि तमिल में सात और पुस्तकें आने वाले  कुछ महीनों में प्रकाशित की जायेंगी। समारोह में बड़ी संख्या में विद्वान और मीडिया जगत के लोग उपस्थित थे।