विशेष लेख


Volume 48

डा. जितेंद्र सिंह ने स्वच्छता पखवाड़ामें  स्वच्छता शपथ दिलाई

स्वच्छता अभियान में उत्तर पूर्व प्रमुख भूमिका निभायेगा

उत्तर पूर्व क्षेत्र विकास (स्वतंत्र प्रभार), प्रधान मंत्री कार्यालय, कार्मिक, लोक शिकायत एवं पेन्शन, परमाणु ऊर्जा और अंतरिक्ष राज्य मंत्री डा. जितेंद्र सिंह ने उत्तर पूर्व क्षेत्र विकास मंत्रालय के अधिकारियों और कर्मचारियों को नई दिल्ली में आरंभ हुए स्वच्छता पखवाड़ा के अवसर पर स्वच्छता शपथदिलाई. उत्तर पूर्व क्षेत्र विकास मंत्रालय 16 से 28 फरवरी, 2017 तक स्वच्छता पखवाड़ामना रहा है.

इस अवसर पर डा. जितेंद्र सिंह ने कहा कि स्वच्छता का हमारे भीतर एक आदत के तौर वास होना चाहिये और स्वच्छता गतिविधियां स्वच्छता पखवाड़े से आगे निरन्तर प्रक्रिया  होनी चाहिये. इस संबंध में उन्होंने कहा कि मनोवृत्ति में बदलाव लाये जाने की आवश्यकता है और उन्होंने वर्ष 2014 में प्रधान मंत्री श्री नरेंद्र मोदी द्वारा आरंभ किये गये स्वच्छ भारत मिशनमें युवाओं की भागीदारी पर भी ज़ोर दिया.

डा. जितेंद्र सिंह ने कहा कि चाहे स्वच्छ भारत मिशन हो अथवा विमुद्रीकरण, भारत भर में लोगों ने केंद्रीय सरकार द्वारा शुरू की गई पहलों का समर्थन किया है. उन्होंने कहा कि उत्तर पूर्व क्षेत्र को साफ-सफाई के लिये जाना जाता है, उदाहरण के लिये सिक्किम खुले में शौच मुक्त राज्य बन चुका है और ऐसा लक्ष्य हासिल करने वाला भारत का ये पहला राज्य है. उन्होंने कहा कि मेघालय के एक गांव को एशिया के सबसे स्वच्छ गांव का खि़ताब मिला है. मंत्री महोदय ने कहा कि शेष भारत को उत्तर पूर्व द्वारा प्रस्तुत इन उदाहरणों से प्रेरणा लेनी चाहिये. उन्होंने कहा कि उत्तर पूर्व क्षेत्र को स्वच्छता अभियान में अग्रणी भूमिका निभानी चाहिये.

उत्तर पूर्व क्षेत्र विकास मंत्रालय के स्वच्छता पखवाड़ा के दौरान संचालित की जा रही गतिविधियों में स्वच्छ प्रौद्योगिकियों पर कार्यशाला, स्वच्छता दौड़ें, ब्लॉग लेखन/फोटोग्राफी और वीडियो क्लिप प्रतियोगिता, पुरानी फाइलों को विनष्ट करना, मंत्रालय में सबसे स्वच्छ कक्ष का पुरस्कार, अधिकारियों के सभी 8 पूर्वोत्तर राज्यों में स्वच्छता संदेश फैलाने के वास्ते दौरे शामिल हैं.

सचिव, उत्तर पूर्व क्षेत्र विकास मंत्रालय, श्री नवीन वर्मा और मंत्रालय के अन्य वरिष्ठ अधिकारी इस अवसर पर मौजूद थे.

 

पीआईबी