विशेष लेख


Volume 2, 2017

स्वच्छ  एवं हरित पोर्टों और बंदरगाहों के लिए स्वच्छ भारत पखवाड़ा

स्वच्छता अभियानके तहत

 साफ-सफाई के बारे में जागरूकता बढ़ाने के लिए नौवहन मंत्रालय ने 16 मार्च से लेकर 31 मार्च, 2017 तक स्वच्छ भारत पखवाड़ा मनाया. मंत्रालय ने इस अभियान के तहत अनेक गतिविधियां संचालित की. इस कार्यक्रम का शुभारम्भ नौवहन एवं सडक़ परिवहन और राजमार्ग मंत्री श्री नितिन गडकरी ने 16 मार्च, 2017 को मुंबई स्थित भारतीय नौवहन निगम के परिसर में किया था. स्वच्छ भारत अभियान का शुभारम्भ प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र  मोदी ने 2 अक्टूबर, 2014 को इस आह्वान के साथ किया था कि लोग 2019 में महात्मा गांधी की 150वीं जयंती तक स्वच्छ भारत के उनके सपने को पूरा करें.

नौवहन मंत्रालय और इसके अधीनस्थ समस्त संगठनों ने स्वच्छ भारत अभियान के एक हिस्से के रूप में स्वच्छता के लिए वर्ष भर चलने वाला कार्यक्रम शुरू किया था. बंदरगाहों और पीएसयू के लिए 22 सूत्री कार्यक्रम पर सहमति बनी थी, जिनमें घाटों और शेड की साफ-सफाई, शेड की मरम्मत, सभी अनुपयोगी वस्तुओं और दावारहित वस्तुओं की नीलामी और निपटान, सभी संकेतकों और बोर्डों की एकसमान रंग कोड के साथ पेंटिंग (एक पोर्ट का एक समान), पार्कों का सौंदर्यीकरण एवं साफ-सफाई, समस्त शौचालय परिसरों का आधुनिकी-करण, नियमित अंतरालों पर डस्टबिन रखना, बोर्ड-स्वच्छता संदेश लिखकर-क्या करें और क्या नहीं करें, उचित रंग के साथ सभी कार्यालय भवनों और आवासों की पेंटिंग, फाइलों, रिकार्डों, डाक पैडों और कार्यालय/कार्यस्थल पर अन्य महत्वपूर्ण पेपर्स का उचित रखरखाव, मूर्तियों की सफाई और पेंटिंग, सभी नालों और बरसाती पानी की नालियों की साफ-सफाई, खुले क्षेत्र, एवेन्यू और कॉर्नर्स में पौधारोपण, उन विभागों अथवा अधिकारियों को पुरस्कार  जिनके क्षेत्र/कार्य क्षेत्र सर्वाधिक साफ और स्वच्छ हैं, कर्मचारियों में जागरूकता पैदा करने और स्वच्छ वातावरण के प्रति संवेदनशील बनाने के लिए नियमित प्रशिक्षण, अनावश्यक उगे पौधों, ठोस कचड़े का संग्रह, पृथक्कीकरण, छंटाई और जहाज पर भण्डा्ररण, डिस्चार्ज से पूर्व जल मल शोधन, नियमित अंतराल पर कार्यालय परिसरों में विशेष सफाई अभियान, पुराने रिकार्ड और फाइलों को हटाना/विनष्ट करना, अनुपयोगी वस्तुओं का निपटान, बेहतर स्थान प्रबंधन के साथ समान क्षेत्र में कार्यालय स्थान का अधिक कार्यस्थल के लिये सदुपयोग, कार्यालय/कार्यस्थलों पर रखे सभी फर्नीचर/फिक्चर्स और अन्य  कार्यालय मदों की नियमित और उचित साफ-सफाई.

स्वच्छ भारत पखवाड़ा मंत्रालय, बंदरगाहों और उनके संगठनों जैसे कि डीजी शिपिंग, एससीआई, डे्रजिंग कार्पोरेशन ऑफ इंडिया, कोचिन शिपयार्ड लिमिटेड, दीपघर और दीप पोत महानिदेशालय का अपने परिसरों में स्वच्छता के प्रसार के लिये वर्ष भर का एक संयुक्त दीर्घावधि प्रयास है. इस अवधि के दौरान संचालित गतिविधियों में पुरानी फाइलों को विनष्ट  करना, फाइलों के डिजिटाइजेशन के लिये अभियान, सभी अप्रयुक्त  वस्तुओं का निपटान, कमरों, शौचालयों का नवीनीकरण और सभी कर्मचारियों को शुद्ध और स्वच्छ पेयजल उपलब्ध करवाना शामिल है.

 

पत्र सूचना कार्यालय