सफलता की कहानी


सफलता की कहानी-10, Volume 23

बिना किसी रुकावट के छात्रों की मदद करें: सिंघल

 ट्रांसट्यूटर्सएक शैक्षिक पोर्टल है, जो विभिन्न विषयों में असाइमेंट्स के लिए ऑनलाइन ट्यूटर उपलब्ध कराता है। यह विश्वभर में चौबीसों घंटे और सातों दिन विश्वविद्यालय एवं स्कूली विद्यार्थियों की सहायता के लिए असाइमेंट और होमवर्क प्रदान करता है। 20 हजार से अधिक प्रशिक्षित शिक्षाविदों, विशेषज्ञों और शिक्षकों की एक टीम एकजुट होकर विद्यार्थियों को उनकी समस्याएं हल करने में मदद पहुंचाती है, बेहतर शिक्षा सेवाएं प्रदान करती है और होमवर्क पर केंद्रित माड्यूल के जरिए सीखने, परीक्षाओं के लिए तैयारी करने के अवसर प्रदान करती है। इस टीम ने विश्वभर में हजारों विद्यार्थियों को उनके असाइनमेंट्स पूरे करने में मदद पहुंचाने में भारी सफलता अर्जित की है।

ट्रांसट्यूटर को ऐसे शिक्षकों की भर्ती का अतिरिक्त लाभ प्राप्त है, जिनकी अद्यतन  वेब आधारित प्रौद्योगिकियों के जरिए ऑनलाइन ट्यूशन पढ़ाने की क्षमता है। वे ऐसे प्रशिक्षित शिक्षाविद हैं, जो अमरीका, ब्रिटेन और आस्ट्रेलिया में स्कूलों और कॉलेजों के पाठ्यक्रमों की भलीभांति जानकारी रखते हैं। यह सर्वाधिक तेजी से बढऩे वाली ऑनलाइन ट्यूटरिंग कंपनियों में से एक है। यह ट्रॉन वेब ग्लोबल इंक की एक यूनिट है, जो शिक्षा सेवाओं के व्यापक स्पैक्ट्रम के साथ बाजार की प्रमुख कंपनी है। विभिन्न फायदों को देखते हुए वर्चुअल लर्निंग और ऑनलाइन ट्यूटरिंग का चलन विद्यार्थियों के बीच बढ़ता जा रहा है। यह इस्तेमालकर्ता-अनुकूल और जटिलता रहित, लागत की दृष्टि से सक्षम है और सर्वाधिक महत्वपूर्ण बात यह है कि यह किसी भी जरूरतमंद विद्यार्थी को ट्यूटर का इंस्टेंट कनेक्शन प्रदान कर सकती है। यह विद्यार्थियों और ट्यूटर के बीच एक उत्कृष्ट मंच है, जो असाइमेंट्स, प्रश्नों, परियोजनाओं और शिक्षा से संबंधित किसी भी और प्रत्येक वस्तु से संबंधित समस्याओं का समाधान करता है। हमारे ट्यूटर कड़े सेवापूर्ण और सेवाकालीन प्रशिक्षण कार्यक्रमों से गुजरते हैं और प्रमाणपत्र प्राप्त करते हैं, जिससे वे विश्वभर में संास्कृतिक, शिक्षा प्रणाली संबंधी और भाषायी विशिष्टताएं हासिल करते हैं। कंपनी विद्यार्थियों और शिक्षकों के लिए शिक्षण को एक रोचक अनुभव बनाने में सफल रही है। उनकी व्यक्तिगत शिक्षण पद्धति विद्यार्थियों को बुनियादी एवं अग्रिम धारणाओं को समझने में सक्षम बनाती है और वे अपनी अल्पकालिक और दीर्घकालिक जरूरतों एवं लक्ष्यों को पूरा करने में सफल होते हैं। ट्रांसट्यूटर के संस्थापक आदित्य सिंघल ने एक उद्यमी के रूप में अपनी यात्रा के बारे में रोजगार समाचार/एम्प्लॉयमेंट न्यूज को जानकारी प्रदन की। उनके साथ इंटरव्यू का सारांश नीचे दिया गया है:

प्रश्न: इस व्यापार का विचार किस प्रकार आपके मन में आया?

उत्तर: इसके पीछे एक दिलचस्प कहानी है। हम गुडग़ांव में तीन बेडरूम वाले अपार्टमेंट में रहने वाले तीन बैचमेट थे। प्रत्येक के पास अपना-अपना कमरा था। एक दिन हमारे एक बैचमेट, हेमंत ने बाहर जाने का फैसला किया। मुझे और निशांत को रहना पड़ा और तीसरे कमरे का खर्च भी वहन करना पड़ा। हमने अपनी सोसायटी में बच्चों को ट्यूशन पढ़ाने का निर्णय किया। इसके लिए गुडग़ांव में टाइम्स ऑफ इंडिया की 10 हजार प्रतियों में पर्चे रखे गए। लेकिन एक भी बच्चा ट्यूशन पढऩे नहीं आया। इसलिए हमारे दिमाग में यह बात आई कि ऑनलाइन ट्यूशन पढ़ाई जाए। हमने अमरीका में कंपनियों को ईमेल भेजने शुरू किए, जिसमें उनसे कहा गया कि वे भारत से ट्यूटर ट्राई करें। जल्दी ही हमें अपना प्रथम ग्राहक मिल गया और इस तरह हमारी यात्रा शुरू हुई।

प्रश्न: शुरू में आपका क्या मिशन था?

उत्तर: जब हमने शुरू किया तो हमारा लक्ष्य अच्छी शिक्षा के लिए भौगोलिक सीमाएं तोडऩा था।

प्रश्न: आपकी कंपनी में कितने कर्मचारी काम करते हैं?

उत्तर: करीब 100 लोग काम करते हैं।

प्रश्न: आप किस तरह की सेवाएं प्रदान करते हैं?

उत्तर: हम विद्यार्थियों को उनके ग्रेड बढ़ाने में मदद करने के लिए (क) प्रश्न एवं उत्तर बैंक, 10 लाख से अधिक प्रश्नों वाले क्यू एंड ए बैंक और शैक्षिक क्यू एंड ए के जरिए कॉलेज असाइमेंट्स में मदद करना और (ख) लाइव ट्यूटर्स के साथ सीधे कनेक्ट करते हुए धारणाओं को समझाना और उनके संदेह दूर करना। नौ विषयों - स्टैट्स, फाइनेंस, अकाउंटिंग, इकोनोमिक्स, मैथ्स, इंजीनियरी, कम्प्यूटर साइंस, मैनजमेंट, साइंस, मानविकी के लिए 15 हजार से अधिक ट्यूटर जुटाए गए हैं।

प्रश्न: आप अपने व्यापार का प्रचार कैसे करते हैं?

उत्तर:  (क) हम इसके लिए गूगल जैसे सर्च इंजनों पर निर्भर करते हैं ताकि हमारी साइट पर ट्रैफिक ड्राइव किया जा सके। जब कोई विद्यार्थी किसी असाइनमेंट के लिए मदद हेतु सर्च करता है, तो हमारी साइट रैंकिंग पर पोप्सअप होती है, जिसकी परिणति ट्रैफिक आर्गेनिक करने में होती है। (ख) हम मार्केटिंग के लिए कोई भुगतान नहीं करते हैं, क्योंकि यूनिट की आर्थिक स्थिति को नियोजित नहीं किया गया है। चूंकि हम बूट्सस्ट्रैप्ड हैं, इसलिए हम लाइफटाइम वेल्यू प्ले नहीं कर सकते।

प्रश्न: आप अपनी सफलता का श्रेय किन घटकों को देते हैं?

उत्तर:  हम अपनी सफलता का श्रेय उत्कृष्ट टीम को देते हैं जो हमने वर्षों में तैयार की है। हमने शुरू में ही यह जान लिया था कि महान व्यापार केवल रॉकस्टार टीम द्वारा ही निर्मित हो सकता है और इसीलिए हमने अच्छे लोगों को एकत्र करने का हर संभव प्रयास किया।

प्रश्न: आपने व्यापार के संचालन के लिए वर्तमान स्थान का चयन किस आधार पर किया?

उत्तर:  हमने जियासराय से शुरुआत की, क्योंकि यह हमारे आईआईटी होस्टल के निकट था। आईआईटी दिल्ली और जेएनयू के विद्यार्थी प्रथम शिक्षक थे, जिन्हें हमने काम पर लगाया। अपनी कक्षाओं के बाद वे हमारे कार्यालय से पढ़ाते थे। हमने प्रति घंटा ट्यूशन की अच्छी दरें प्रस्तावित कीं और साथ ही नि:शुल्क भोजन और कोल्ड ड्रिंक्स भी प्रदान किए। इसके बाद हम नोएडा की तरफ बढ़े और विकसित होते गए।

प्रश्न: आपके व्यापार की खास बात क्या है?

उत्तर:  हमारे व्यापार की बेजोड़ बात यह है कि इसमें मार्केटिंग की लागत शून्य है क्योंकि हमें सभी ट्रैफिक आर्गेनिक साधनों से आता है। शून्य मार्केटिंग लागत के साथ वस्तु सूची की लागत भी शून्य है। हम रॉयल्टी मॉडल पर ट्यूटर्स से उत्तर प्राप्त करते हैं। इस प्रकार ट्यूटर को भुगतान तभी करना पड़ता है, जब उत्तर को बेच कर अंशदान प्राप्त हो जाता है।

प्रश्न: कंपनी के बॉस के नाते आपकी क्या जिम्मेदारियां हैं?

उत्तर:  कंपनी का मालिक जहाज के कैप्टन की तरह होता है। वह जहाज को स्थिर रखने के लिए हरसंभव उपाय सुनिश्चित करता है। जब हमने शुरू किया, तो हमने (दोनों सह-संस्थापकों ने) व्यापार विकास से लेकर मार्केटिंग, अकाउंटिंग या ट्यूटरिंग तक सब कुछ स्वयं किया।  लेकिन जैसे-जैसे हमारा काम आगे बढ़ा, तो हमने सर्वोत्कृष्ट टेलेंट हायर करने और समूची टीम को उत्कृष्ट योगदान करने के लिए प्रेरित करने पर ध्यान केंद्रित किया।

प्रश्न: इस तरह का व्यापार चुनने की प्रेरणा आपको कैसे मिली?

उत्तर:  हमने कभी विकल्प बी के बारे में नहीं सोचा, जो कुछ हमारे दिमाग में आया, उस पर अमल शुरू कर दिया और पीछे मुड़ कर नहीं देखा।

प्रश्न: अपना व्यवसाय शुरू करने वालों को आप क्या सलाह देना चाहेंगे?

उत्तर:  बेहतर समय कल नहीं था, न ही भविष्य में बेहतर समय आएगा। यदि कोई सही समय है, तो वह केवल आज है।

प्रश्न: आपको अपने व्यापार में कौन-सी दो बड़ी चुनौतियों का सामना करना पड़ा?

उत्तर:  बेहतर टेलेंट को भर्ती करना और बनाए रखना, चूंकि हमारा समूचा ट्रैफिक सर्च इंजनों से आता है, हमारी सतत चुनौती यह रहती है कि हम उनके अल्गोरिद्स (कलम गणित) में परिवर्तनों के साथ अपने को अद्यतन बनाए रखें।

प्रश्न: आप भारत में स्टार्ट अप्स के बारे में क्या सोचते हैं?

उत्तर:  भारत में 6-8 साल पहले की तुलना में आज स्टार्ट अप्स के लिए बेहतर एवं अनुकूल माहौल है। यह अनुकूल वातावरण प्रयोग के लिए अधिक छूट प्रदान करता है, जिससे स्थिरता के अवसर बढ़ जाते हैं।

 

-अमित त्यागी