सफलता की कहानी


Success story-11

स्टार्ट अप्स को यहां बने रहना है
आगे बढऩे के लिये ये बहुत ज़रूरी हैं

क्या आपको  इंटरस्टेलरऔर ‘3 इडियट्सका स्मरण है और किस प्रकार दोनों मूवीज में ड्रोन को फिल्माया गया था? अब ड्रोन लोकप्रिय व्यवसायिक अनुप्रयोगों के जरिए वास्तविक जीवन में प्रवेश कर रहे हैं। भारतीय सशस्त्र सेनाएं अंतर्राष्ट्रीय सीमाओं पर गुप्तचर और सतर्कता सूचनाएं एकत्र करने के लिए मानवरहित एरियल वाहनों (यूएवीज) का प्रयोग कर रहे हैं। परंतु ड्रोनों का इस्तेमाल नागरिक उद्देश्यों के लिए, जैसे कि एरियल शॉट्स के फिल्मांकन और कृषि प्रबंधन के लिए किया जा सकता है।

हाल में पिछले दिनों स्टार्ट अप्स ने भारत में यूएवीज के व्यवसायिक इस्तेमाल के लिए वाणिज्यिक अवसरों की पहचान की है। इस क्षेत्र में कुछेक अग्रणी हैं: ड्रोन एविएशन, एक सिने आईआईटी बम्बई इन्क्यूबेटिड कंपनी ने एक मानवरहित एरियल व्हीकल के लिए महत्वपूर्ण भूमिका निभाई है जिसे उत्तराखंड में बाढ़ राहत कार्यों के दौरान इस्तेमाल किया गया था।

ड्रोन एविएशन औद्योगिक अनुप्रयोगों के लिए नैनो ड्रोन प्लेटफार्मों का निर्माण करता है। ड्रोन एविएशन के संस्थापक अपूर्व गोडबोले ने उद्यमशीलता की अपनी यात्रा के बारे में रोजग़ार समाचार को बताया कि ‘‘हम इसे अपने मज़बूत डीआईवाई नैनो ड्रोन प्लूटो के जरिए करते हैं। इसमें ओपन सोर्स फिल्मवेयर होता है जिसे प्लूटो को बहुत ही विनिर्दिष्ट अनुप्रयोगों के लिए कस्टमाइज़ करने हेतु प्रयोग में लाया जाता है।

प्रश्न: आपको इस बिजऩेस का विचार कहां से आया?

उत्तर: हमारे सह-संस्थापक प्रसन्ना शेवारे 6 वर्षों से अधिक समय से ड्रोनों के संबंध में कार्य कर रहे हैं और अब दिनेश 5 वर्ष से अधिक समय से ड्रोनों से जुड़ा कार्य कर रहे हैं। एक ड्रोन कंपनी शुरू करने की उनकी संकल्पना थी। हमने महसूस किया कि ड्रोन का स्वयं में कोई अंत नहीं होता बल्कि वे समस्या के समाधान का एक जरिया होते हैं। अत: हमने लोगों द्वारा इन्हें समस्या के समाधान के लिए इस्तेमाल में मदद के लिए एक मंच का निर्माण करने का फैसला किया।

प्रश्न:  शुरूआत में आपका क्या मिशन था?

उत्तर: औद्योगिक/सिविक/मिलिट्री एप्लीकेशन्स के लिए नैनो ड्रोन प्लेटफार्मों का निर्माण करना।

प्रश्न:  आपके उद्यम में कितने कर्मचारी कार्यरत हैं?

उत्तर: यहां पर तीन सह-संस्थापक, तीन पूर्णकालिक कर्मचारी और इतनी ही संख्या में इंटर्न हैं।

प्रश्न: आप किस प्रकार की सेवाएं उपलब्ध करवाते हैं?

उत्तर: हम एक नैनो ड्रोन प्रौद्योगिकी मंच उपलब्ध करवाते हैं जिस पर उद्यमी अपने स्वयं के समस्या समाधान अनुप्रयोग का निर्माण कर सकते हैं।

प्रश्न: आप अपने व्यवसाय को किस प्रकार विज्ञापित करते हैं?

उत्तर: पूरी तरह अपनी बातों के जरिए। हमारे उत्पाद ने स्वयं ही अपने आपको विज्ञापित किया है।

प्रश्न: आप अपनी सफलता का श्रेय किसे देते हैं?

उत्तर: हमारे मन में हमेशा ही सुदृढ़ उद्देश्य रहा कि उपभोक्ता के अनुरूप एक अद्भुत उत्पादन का निर्माण करुं।

प्रश्न: आपने वर्तमान स्थान क्यों चुना?

उत्तर: आईआईटी बम्बई बौद्धिक संपत्ति के लिए  एक उपयुक्त इन्क्युबेशन-कम किराए पर स्थान की उपलब्धता और स्टार्ट अप्स के लिए पारिस्थितिकी प्रणाली के विकास का हब है।

प्रश्न: आपके व्यवसाय में क्या विशिष्टता है?

उत्तर: हम भारत में एकमात्र नैनो ड्रोन विनिर्माता हैं। हम न केवल उड़ान के लिए तैयार ड्रोन उपलब्ध करवाते हैं बल्कि ऐसे मंच भी प्रदान करते हैं जहां शोधकर्ता अपने प्रयोग संचालित करते हैं और उद्यमी अपने अनुप्रयोगों का निर्माण और क्षमतानुसार अपनी कंपनियां खड़ा कर सकते हैं।

प्रश्न: एक फर्म के प्रमुख के तौर पर आपकी क्या जि़म्मेदारियां हैं?

उत्तर: मेरे ऊपर उत्पादों के विपणन के लिए बिजऩेस चैनल का निर्माण करने, ड्रोन एविएशन की मानव संसाधन आवश्यकताओं का ध्यान रखने और कंपनी के लिए धन जुटाने की प्रक्रिया का अभियान चलाने की जि़म्मेदारी है।

प्रश्न: आपने इस प्रकार के व्यवसाय को क्यों चुना?

उत्तर: यह एक प्रौद्योगिकी उत्पाद है जो कि वास्तविक मानवीय समस्याओं का समाधान करता है। यह एक अनुकूल पैमाना है और न केवल कंपनी बल्कि तकनीकी उद्यमियों के लिए पारिस्थितिकी अनुकूलता के निर्माण में सहायता कर रहा है।

प्रश्न: क्या आपकी कंपनी समुदाय की मदद करती है जहां पर यह स्थित होती है?

उत्तर: हम उन्हें तकनीकी समाधान उपलब्ध करवाने के लिए एक सरकारी एजेंसी के निकट संपर्क में हैं जिससे उनके जीवन के जोखिमों को कम किया जा सके और व्यावसायिक दुर्घटनाओं का पता लगाया जा सके।

प्रश्न: यदि आप किसी ऐसे व्यक्ति को जिसने अभी अभी शुरूआत की है एक शब्द में सलाह देना चाहेंगे तो वह क्या होगी?

उत्तर: उस समस्या पर फ़ोकस करें जिसे आप हल करने की कोशिश कर रहे हैं। वित्तपोषण और प्रतिभा अपने आप दौड़ी चली आएगी।

प्रश्न: वे कौन सी दो चुनौतियां हैं जिनका आपने बिजऩेस में सामना करना पड़ा है?

उत्तर: ड्रोनों के प्रचालन के दौरान स्पष्ट सरकारी विनियमों का अभाव। शुरूआत में इससे निवेशक और ग्राहक दूर भाग खड़े हुए थे।

प्रश्न: आप भारत में स्टार्ट अप्स के स्थायित्व के बारे में क्या महसूस करते हैं।

उत्तर: स्टार्ट अप्स को यहां बने रहना है। यदि भारत विकासशील अर्थव्यवस्था से विकसित अर्थव्यवस्था की तरफ बढ़ रहा है तो इसके लिए ये बहुत ज़रूरी हैं। सभी स्टार्ट अप्स के लिए आवश्यक है कि वे भारत की विशिष्ट समस्याओं पर ध्यान केंद्रित करें और उनके लिए समाधान उपलब्ध करवाएं।

अमित त्यागी