नौकरी फोकस


Volume-13

प्रबंधन प्रवेश के लिए एटीएमए (आत्मा) एआईएमएस परीक्षा
भारत में ७०० बी - स्कूलों में प्रवेश का मार्ग

रुचि श्रीमाली

प्रबंधन प्रवेश के लिए एआईएमएस परीक्षा (आत्मा) उन ७००-बी. स्कूलों में एम.बी.ए., पी.जी.डीएम, पी.जी.डी.बी.ए तथा अन्य स्नातकोत्तर स्तर के प्रबंधन कार्यक्रमों में प्रवेश के लिए अखिल भारतीय प्रवेश परीक्षा है, जो एसोशिएशन ऑफ इंडियन मैनेजमेंट स्कूल्स (ए.आई.एम.एस.) का भाग है. कुछ संस्थान अपने एम.सी.ए. कार्यकमों में प्रवेश के लिए आत्मा अंकों को भी स्वीकार करते हैं.
भारत में छह राष्ट्रीय स्तर की प्रबंधन प्रवेश परीक्षाओं में से एक ए.टी.एम.ए. (आत्मा) निम्नलिखित द्वारा मान्यताप्राप्त है:-
*अखिल भारतीय तकनीकी शिक्षा परिषद (ए.आई.सी.टी.ई.),
*मानव संसाधन विकास मंत्रालय, भारत सरकार (मा.सं.वि.मंत्रा. भारत सरकार) और
*भारतीय उच्च्तम न्यायालय.
आत्मा (ए.टी.एम.ए.) एक शैक्षिक वर्ष के प्रवेश के लिए चार बार- दिसंबर, फरवरी, मई एवं जुलाई या अगस्त में ली जाती है, शैक्षिक सत्र २०१७-१८ में स्नातकोत्तर प्रबंधन कार्यक्रमों में प्रवेश के लिए कोई भी उम्मीदवार १२ फरवरी, २०१७ को ऑफ लाइन परीक्षा (पेन-पेपर पद्धत्ति) या २८ मई, २०१७ को कम्प्यूटर आधारित या ऑनलाइन परीक्षा के रूप में ली जाने वाली ए.टी.एम.ए. में बैठ सकते हैं, एम.बी.ए. के इच्छुक उम्मीदवारों के लिए अभी भी दो अवसर खुले हैं. कम्प्यूटर आधारित या ऑनलाइन ए.टी.एम.ए. इस वर्ष परीक्षाएं २५ जून और २३ जुलाई को ली जाएंगी.
सदस्य संस्थान
द एसोसिएशन ऑफ इंडिया मैनेजमेंट स्कूल्स (ए.आई.एम.एस.) विश्व में प्रबंधन संस्थाओं का एक सबसे बड़ा नेटवर्क है जिसके ७३० से भी अधिक सदस्य हैं. आई.आई.एम.एस., आई.एस.बी., जेवियर संस्थान, एन.एम. आई.एम.एस., वेलिंगकर, एम.डी.आई. और आई.सी.एफ.ए.आई. जैसे उच्च भारतीय प्रबंधन संस्थान इस बी- स्कूल नेटवर्क के भाग हैं.
ए.टी.एम.ए., इसके सदस्य संस्थानों (ए-ग्रेड संस्थानों को छोडक़र जो अपनी निजी प्रबंधन प्रवेश परीक्षाएं लेते हैं) द्वारा चलाए जाने वाले पी.जी.प्रबंधन कार्यक्रमों के लिए एक विश्वसनीय सिंगल विंडों परीक्षा के रूप में कार्य करती है.
ए.टी.एम.ए. अंकों को स्वीकार करने वाले कुछ उच्च प्रबंधन कॉलेज निम्नलिखित हैं:-
*ए.आई.एम.एस. संस्थान, बंगलौर : २०१६ में इसे वीक द्वारा होटल प्रबंधन के लिए प्त१८ तथा एम.बी.ए. के लिए प्त५३ रैंक प्राप्त था.
*इंडस बिजनेस अकादमी, बंगलौर : मैसूर विश्वविद्यालय से संबद्ध इस अकादमी को वीक २०१६ द्वारा एम.बी.ए. के लिए प्त६९ रैंक दिया गया था.
*एस.एस.एन. प्रबंधन स्कूल : अन्ना विश्वविद्यालय से संबंद्ध इस स्कूल को २०१६ में मा.सं.वि. मंत्रालय द्वारा एम.बी.ए. के लिए प्त३३ रैंक दिया गया.
*विज्ञान ज्योति प्रबंधन संस्थान, हैदराबाद : एन.ए.ए.सी. ने इसे ग्रेड बी मान्यता दी है. वीक ने २०१६ में #८७ रैंक पर रखा था.
कोई भी व्यक्ति http://atmaaims.com/ pdf/ATMA_participating_institutes.pdf.पर उन संस्थानों की पूरी सूची प्राप्त करता है जो संस्थान ए.टी.एम.ए. अंक स्वीकार करते हैं.
महाराष्ट्र सरकार ने घोषणा की है कि इस वर्ष से महाराष्ट्र में अखिल भारतीय स्तर की सीटों के साथ संस्थान स्तर के एम.बी.ए. सीटों के लिए ए.टी.एम.ए. अंक भी वैध होंगे.
यह नोट कर लें कि सभी सदस्य संस्थान ए.टी.एम.ए. अंक स्वीकार करते हैं. आपको यह जांच करनी होगी कि कौन से सदस्य संस्थान किस सत्र में भाग ले रहे हैं, उदाहरण के लिए, ए.टी.एम.ए. २०१७ सूचना विवरणिका में ७६ संस्थानों के नामों का उल्लेख है जो मई सत्र की परीक्षा में भाग ले रहे हैं. आप http://www.atmaaims.com/ pdf/bulletin-2017-18.pdf पर सूचना विवरणिका देख सकते हैं.
पात्रता मानदण्ड : ए.टी.एम.ए. परीक्षा के लिए ऐसा कोई भी व्यक्ति आवेदन कर सकता है जिसने किसी मान्यताप्राप्त संस्थान या विश्वविद्यालय से अपनी स्नातक योग्यता पूरी की है. ए.टी.एम.ए. के लिए वे व्यक्ति भी आवेदन कर सकते हैं जो अपने स्नातक डिग्री कार्यक्रम के अंतिम वर्ष की परीक्षा में बैठ रहे हैं.
ए.टी.एम.ए. द्वारा कोई न्यूनतम प्रतिशतता कट-ऑफ निर्धारित नहीं हैं, लेकिन सहभागी संस्थान उम्मीदवारों की छटनी करने के समय अपना निजी पात्रता मानदण्ड रख सकते हैं.
आयु-सीमा : ए.टी.एम.ए. परीक्षा में बैठने के लिए अधिकतम आयु-सीमा २१ वर्ष है.
प्रश्न-पत्र पद्धति: ए.टी.एम.ए. २०१७ परीक्षा पद्धत्ति में छह भाग होंगे:-
*२ भाग विश्लेषिक तर्कणा कौशल पर
*२ भाग वर्बल कौशल पर
*२ भाग मात्रात्मक कौशल पर.
सभी भागों में प्रश्न ऑबजेक्टिव प्रकृति के होते हैं. प्रत्येक भाग में ३० प्रश्न होंगे अर्थात प्रश्न-पत्र में कुल १८० प्रश्न होंगे प्रत्येक प्रश्न के लिए ०१ (एक) अंक होता है इसलिए पूरा प्रश्न-पत्र १८० अंक का होता है. ए.टी.एम.ए. प्रश्न-पत्र का उत्तर लिखने के लिए छात्रों को कुल १८० मिनट का समय दिया जाता है. इसका अर्थ यह हुआ कि एक प्रश्न के उत्तर लिखने के लिए छात्र को लगभग ०१ मिनट का समय मिलता है.
ए.टी.एम.ए. परीक्षा-२०१७ में गलत उत्तर के अंक भी काटे जाते हैं प्रत्येक गलत उत्तर या जिन प्रश्नों के एक से अधिक उत्तर लिखे जाते हैं तो उनके लिए १/४ अंक काटे जाएंगे. गलत उत्तर के लिए काटे जाने वाले अंक आपके कुल अंकों में से घटा दिया जाएंगे. इसलिए इस परीक्षा में अनुमानित उत्तर लिखने से बचना ही श्रेष्ठ है.
यद्यपि, कोई आधिकारिक ए.टी.एम.ए. नमूना परीक्षा प्रश्न पत्र ऑनलाइन उपलब्ध नहीं है किंतु ए.टी.एम.ए. परीक्षा- पद्धति पिछले वर्षों की तरह ही रहने की आशा है. परीक्षा का कठिनता स्तर सामान्यत: आसान से लेकर सामान्य स्तर का होता है.
प्रत्येक भाग के महत्वपूर्ण विषय :-
विश्लेषिक तर्कणा कौशल :- यह भाग मूल्यांकन करता है कि कोई उम्मीदवार किसी स्थिति का कितनी भली-भांति मूल्यांकन और विश्लेषण करता है. प्रत्येक प्रश्न का समाधान करने के लिए एक संतुलित मस्तिष्क एवं सही दृष्टिकोण होना अपेक्षित होता है.
इस भाग के महत्वपूर्ण विषय :
*सदृशता*वर्णक्रम
*रक्त संबंध*कोडिंग-डिकोडिंग
*डाटा पर्याप्तता*अंक शृंखला
*ऑड-वन- आउट *कथन- निष्कर्ष
*सिलॅजिज्म*वर्बल लॉजिक
*दृश्य तर्कसंगतता
पिछले दो वर्षों में विश्लेषिक तर्क संगतता भाग का कठिनता स्तर मुश्किल था. इसमें विवेचनात्मक तर्क संगतता के प्रश्न भी थे जो कार्रवाई, सशक्ता एवं कमजोर तर्क, कारण एवं प्रभाव आदि पर आधारित थे. इस भाग में डिडक्शन प्रश्न सबसे कठिन माने गए थे और वे संभावना मॉडल पर आधारित थे.
मात्रात्मक कौशल: इस भाग के लिए अत्यधिक नियमित अभ्यास की आवश्यकता होती है. संभाव्यता, पर्मुटेशन तथा कॉम्बिनेशन, समन्वय ज्यामिति, औसत, मेंसुरेशन, अनुपात एवं समानुपात, विभिन्नता, ब्याज परिकलन, ज्यामिति, असमानता, प्रोग्रेसन, लोगारिद्म, सेट थ्योरी, क्वाड्राटिक इक्वेशन तथा फंक्शन्स आदि का अभ्यास आपको तीव्रता से परिकलन करने में अत्यधिक सहायता करेगा.
इस भाग के महत्वपूर्ण विषय:
*बीजगणित*बार ग्राफ
*मूल अंकगणित*चक्रवद्धि ब्याज
*डाटा-निर्वचन*अंक प्रणाली
*प्रतिशतता*पाई चार्ट
*लाभ एवं हानि*शृंखला
*साधारण ब्याज*समय एवं कार्य
*समय-गति-दूरी
मात्रात्मक कौशल पर ए.टी.एम.ए. के दो भाग हैं. सामान्य रूप से पहला भाग दूसरे भाग से आसान होता है. पिछले वर्ष ए.टी.एम.ए. प्रश्नपत्रों का परीक्षण विश्लेषण बताता है कि मात्रात्मक वर्ग का सम्पूर्ण कठिनता स्तर संतुलित था.
अधिकांश प्रश्न सीधे होते हैं वे प्राय: सामान्य संकल्पना और उनके सीधे अनुप्रयोग पर आधारित होते हैं.
मौखिक कौशल (वर्बल स्किल्स)
यह भाग उम्मीदवारों के बुनियादी अंग्रेजी कौशल का मूल्यांकन करता है. इसमें वाक्यों को सही एवं पूरा करने जैसे प्रश्न भी शामिल हो सकते हैं. इस भाग के महत्वपूर्ण विषय इस प्रकार हैं:-
*रिक्त स्थान भरो (फिल इन द ब्लैंक्स)
*व्याकरण (ग्रामर)*रीडिंग कम्प्रिहेंसन
*सिनोनिम*वोकेब्यूलरी
ए.टी.एम.ए. में पूछे जाने वाले वर्बल कौशल एवं अंग्रेजी के उपयोग के प्रश्न सामान्य कठिन स्तर के होते हैं.
रीडिंग कम्प्रिहेंसन भाग में सामान्यत: चार लेखांश (पैसेज) होते हैं जबकि अंग्रेजी के प्रयोग के प्रश्नों में सिनोनिम, पैरा फोर्मेशन प्रश्न (पी.एफ.क्यू.), इडियम्स आदि शामिल होते हैं. भाग-ढ्ढ सामान्यत: भाग-ढ्ढढ्ढ से आसान होता है रीडिंग कम्प्रिहेंसन प्रश्न बहुत सरल होते हैं जबकि पी.एफ.क्यू. प्रश्न सबसे कठिन माने जाते हैं. परीक्षा में वोकेब्यूलरी और इडियम्स पर पूछे जाने वाले प्रश्न सामान्यत: सरल प्रकृति के होते हैं.
ए.टी.एम.ए. प्रबंधन प्रवेश परीक्षा के तैयारी करने के सुझाव :
याद रखें कि ए.टी.एम.ए. में उच्च प्रबंधन एवं व्यवसाय अध्ययन के लिए अनुप्रयोगों की अभिवृत्ति को आंका जाता है. इसलिए, इसकी तैयारी विश्वविद्यालय परीक्षा की तैयारी से भिन्न होती है. आपकी पूरी तैयारी में अभिवृत्ति परीक्षाओं में उत्कृष्टता और गति बढ़ाने पर बल होना चाहिए. ऑनलाइन परीक्षा में समय-सीमा कड़ी होती है इसलिए इसके लिए समय प्रबंधन महत्वपूर्ण होता है.
यदि आपने मैट या सीमैट जैसी अन्य एम.बी.ए. प्रवेश परीक्षाओं की तैयारी की है तो ए.टी.एम.ए. की तैयारी करना आपके लिए कठिन नहीं होगी. ए.टी.एम.ए का कठिनता स्तर उक्त उल्लिखित परीक्षाओं के समान ही होता है, हालांकि इसमें सामान्य जानकारी भाग नहीं होता है, ए.टी.एम.ए. के प्रश्न-पत्रों की रूपरेखा समझने के लिए आपको ए.टी.एम.ए. के पिछले वर्षों के प्रश्न-पत्रों का समाधान करना आवश्यक होगा.
सभी प्रबंधन प्रवेश परीक्षाएं अत्यधिक प्रतिस्पर्धी होती है. इसलिए जब आप अपने एम.बी.ए. की तैयारी करना प्रारंभ करें, उस समय केवल एक परीक्षा विशेष पर ही बल देना बुद्धिमानी नहीं हेगा. कैट जैसी उच्च स्तर की प्रबंधन प्रवेश परीक्षाओं की तैयारी करें इससे ए.टी.एम.ए. तथा मैट जैसी आसान परीक्षाओं में सफलता प्राप्त करना आपके लिए आसान हो जाएगा.
यहां, नीचे कुछ सुझाव दिए जा रहे हैं जो आपके लिए उपयोगी सिद्ध हो सकते हैं:-
*मात्रात्मक कौशल भागों की तैयारी करने के लिए, आप गणित की एन.सी.ई.आर.टी की हायर सेकेंडरी स्तर की पुस्तकों से अपनी तैयारी करें, उनके प्रश्नों के उत्तरों का भी अभ्यास करें. इसके बाद ए.टी.एम.ए. और कैट के प्रश्न-पत्रों के उत्तर लिखने के प्रयास करें.
*मौखिक (वर्बल) कौशल भागों के लिए आपको वोकेब्यूलरी तथा ग्रामर पर अच्छा अधिकार रखना आवश्यक है. अपने व्याकरण (ग्रामर) की तैयारी करने के लिए रेन एवं मार्टिन की सहायता लें. रेन एवं मर्टिन आपके ग्रामर के अतिरिक्त आपके कम्प्रिहेंसन तथा निबंध लेखन कौशल में भी सुधार ला सकती है. इसमें प्रत्येक विषय के उदाहरण एवं अभ्यास शामिल होते हैं और आप अपने उत्तरों की जांच करने के लिए भी इसका उपयोग कर सकते हैं.
*अपनी पठन-गति को बढ़ाना और विभिन्न विषयों को पढऩा भी एक अच्छा उपाय होगा, ताकि आप लंबे वाक्यंशों को कम समय में समझ सकें.
*अपने भाषा कौशल में सुधार लाने के लिए, आप प्रति दिन अंग्रेजी के समाचारपत्र पढ़ें, अंग्रेजी समाचार देखें और अंग्रेजी में कम से कम १-२- पैराग्राफ लिखा करें. अपने पास एक शब्द-कोष रखें और जब भी आपको, पढ़े जाने वाला कोई शब्द समझ न आए तो उसे समझने के लिए शब्द-कोश की सहायता लें. किसी मित्र से अंगे्रजी में बात करना भी आपकी भावी तैयारी का एक उपयोगी उपाय है.
*विश्लेषिक एवं विवेचनात्मक तर्कणा भाग उन उम्मीदवारों के लिए आसान होता है जो रिडल एवं पज़ल की तैयारी करते हैं. वास्तव में, यदि आप इन प्रश्नों को तैयार करने में रुचि लेंगे तो इन प्रश्नों का समाधान करना आपके लिए मनोरंजन भी बन सकता है. ए.आर. एवं सी.आर. प्रश्नों के समाधान का कोई संक्षिप्त सिद्धांत नहीं है, किन्तु आप जितना इनका अभ्यास करेंगे इनका समाधान करना आपके लिए उतना आसान होता चला जाएगा.
*विश्लेषिक तर्कणा भाग में, आपको दी गई किसी समस्या पर पूछे गए ५ मूल प्रश्नों का उत्तर देकर उसका विश्लेषण करना होता है- क्यों, क्या, कब, कहां और कैसे. वितरण पर लंबी पजल्स अनेक विभिन्नताएं होती हैं जिनके लिए अत्यधिक अभ्यास की आवश्यकता होती है. तथापि, परीक्षा के दिन आप उन प्रश्नों का उत्तर पहले लिखें जिनका उत्तर आपको पता है. उन प्रश्नों पर अपना समय बर्बाद न करें जिन पर आपका अधिक समय लगे क्योंकि ए.टी.एम.ए. प्रश्न-पत्र का समाधान करते समय गति होना आवश्यक है.
*डाटा व्याख्या प्रश्नों में प्राय: बार ग्राफ्स, लाइन ग्राफ्स, केसलेट्स, टेबल्स, पाई चार्ट या सर्कल ग्राफ्स आदि का प्रयोग होता है ऐसे प्रश्नों के समाधान के लिए, दी गई सूचना को पृथक करें और उन्हें लिखें.
*परिशुद्धता एवं गति - दोनों प्राप्त करने के लिए आप नमूना प्रश्न-पत्रों का उत्तर लिखने के लिए एक समय-सीमा निर्धारित करें. समय के साथ अपनी गति बनाए रखें और अपना प्रश्न-पत्र समय से पहले पूरा करने का प्रयास करें. अपने उत्तर की समीक्षा करना और यह पता लगाना न भूलें कि उन प्रश्नों का समाधान कैसे करें जो आपने गलत कर दिए हैं.
*गलत उत्तर देने से आपके उत्तर अंक कट सकते हैं. इसलिए कठिन प्रश्नों में सावधानी रखें और अपने सभी विकल्पों का भी विश्लेषण करें. अंक गणित के प्रश्नों का शीघ्र समाधान करने में समर्थ होने के लिए लघु पद्धतियों में महारथ प्राप्त करें और सभी सिद्धांतों (फार्मूला) को याद कर लें. अंतिम दिन के तैयारी के लिए फार्मूलाशीट बना लें.
*व्याकरण के सभी नियमों को आप एक तालिका, चार्ट या माइंड मैप के रूप में एक जगह पर एकत्र भी कर सकते हैं.
*अपनी परीक्षा की तैयारी के दिनों संतुलित आहार लेना, समय पर खाना और उपयुक्त शारीरिक कसरत तथा विश्राम करना भी उतना ही महत्वपूर्ण है जितना पढऩा. हम परामर्श देंगे कि परीक्षा में जब आपको बैठना है उस समय आप पूर्ण अवधि वाले प्रश्न पत्र का समाधान करें. ताकि उस समय आपका शरीर एवं मस्तिष्क अत्यधिक सतर्क बना रहे.
तैयारी करने में सहायक पुस्तकें : सही पठन सामग्री और पुस्तकें आपकी ए.टी.एम.ए. तैयारी को शिखर पर पहुंचा सकती है. ए.टी.एम.ए.-२०१७ के लिए आप निम्नलिखित पुस्तकों की सहायता ले सकते हैं:
*टाइम की अर्थ मेटिक फोर द कैट एंड अदर एम.बी.ए. एग्जामिनेशन्स (पेपर बैक)
*दिशा विशेषज्ञों की  सीमैट एंटरेंस गाइड विद मॉक टैस्ट सीडी २ एडीशन
*अरुण शर्मा की हाउ टू प्रिपेयर फोर क्वांटिटेटिव एप्टिट्यूड फोर द कैट कॉमन एडमिशन टैस्ट फिफ्थ एडिशन.
*एस.एल. गुलाटी, रवि की मास्टर की टू एम बी ए एंटरेंस एग्जाम २००९ फस्ट एडिशन (पेपर बैक)
*तरुण गोयल बी.एस. सिजवाली की मिशन-एम.बी.ए.- मैट : सोल्व्ड पेपर्स २०१३-२०११ फस्ट एडिशन (पेपर बैक).
*सुलावा की क्वांटिटेटिव एप्टिट्यूड फोर एम.बी.ए. : एंटरेंस एग्जामिनेशन फस्ट एडिशन (पेपर बैक).
*गौतमपुरी की स्नैप/आई.आई.एफ.टी./ एक्स.ए.टी./टी.आई.एस.एस./सीमैट/एनमैट/आई.आर.एम.ए./ मैट मैनेजमेंट एंटरेंस टैस्ट : एम.बी.ए. सोल्व्ड पेपर्स.
*टाइम द्वारा तृष्णा की वर्बल एबिलिटी एंड लॉजिकल रीजनिंग फोर द कैट एंड अदर एम.बी.ए. एग्जामिनेशंस.
अपनी तैयारी एन.सी.-ई.आर.टी. की पुस्तकों तथा अन्य बुनियादी पुस्तकों से प्रारंभ करें और उसके बाद जितने प्रबंधन प्रवेश परीक्षा प्रश्न-पत्रों का उत्तर लिख सकें, लिखें. ए.टी.एम.ए. प्रश्न-पत्रों के साथ-साथ कैट एंव मैट परीक्षा के प्रश्न-पत्र भी आपकी सहायता कर सकते हैं. उक्त उल्लिखित पुस्तकों का उपयोग केवल संदर्भ या कुछ अतिरिक्त अभ्यास के लिए ही करें
लेखिका एक कॅरिअर काउंसलर हैं. ई-मेल : rruchishrimalli@gmail.com.