विशेष लेख


Volume-18, 4-10 August, 2018

 

प्रकाशन विभाग ने ग्रामीण बच्चों के लिये आज़ादी मेरी नजऱ मेंकार्यशाला आयोजित की

प्रकाशन विभाग ने भारत के स्वतंत्रता संघर्ष के बारे में सूचना और जागरूकता के प्रसार के लिये अपनी आउटरीच गतिविधियों के भाग के तौर पर 24 जुलाई, 2018 को जवाहर बाल भवन, मंडी-दिल्ली के बाहरी हिस्से में एक गांव में कार्यशाला का आयोजन किया. बाल भवन (मा.सं.वि. मंत्रालय, भारत सरकार के नियंत्रणाधीन) द्वारा समर्थित कार्यशाला ने गांव के बच्चों को अपने सृजनात्मक कौशल सुधारने के प्रति प्रेरित किया. कऱीब 40 बच्चों ने आज़ादी मेरी नजऱ में’ (मैं आज़ादी के बारे में क्या सोचता हूं) विषय पर कविताएं, नारे, लघु रचनाएं लिखीं.

कार्यशाला के बाद इन बच्चों को सूचना भवन, नई दिल्ली में 26 जुलाई, 2018 को प्रकाशन विभाग की पुस्तक दीर्घा में आयोजित समारोह में आमंत्रित किया गया, जहां उन्होंने अपने लेखन कार्य प्रदर्शित किये. इसके अलावा इन बच्चों ने नागरिकों के अधिकार और कत्र्तव्य विषय पर एक लघु नाटिका भी प्रस्तुत की. प्रकाशन विभाग ने भी बच्चों को उपहार में पुस्तकें भेंट कीं.

कार्यशाला और सूचना भवन में आयोजित कार्यक्रम की परिकल्पना और डिज़ाइन जानी-मानी बाल लेखिका और कम्यूनिकेटर तथा बाल भवन की पूर्व निदेशक सुश्री मधु पंत ने किया था. संपूर्ण कार्यक्रम में सुश्री इंद्राणी चौधरी, उपनिदेशक, बाल भवन, मंडी ने सहयोग प्रदान किया. प्रकाशन विभाग ने सम्पूर्ण कार्यक्रम का समन्वय किया. सूचना भवन में आयोजित कार्यक्रम में बड़ी संख्या में बच्चों, प्रकाशन विभाग के अधिकारियों और कर्मचारियों ने भाग लिया.