विशेष लेख


Volume-8

कपड़ा मंत्रालय ने स्वच्छता पखवाड़ा मनाया

आनंद सौरभ

कपड़ा मंत्रालय ने 1-15 मई के दौरान  स्वच्छता पखवाड़ा मनाया. 15 दिन तक चले इस अभियान का लक्ष्य स्वच्छता के बारे में जागरूकता पैदा करना था. इसका उद्घाटन 1 मई को उद्योग भवन में कपड़ा राज्य मंत्री श्री अजय टमटा ने किया. उन्होंने इस अवसर पर मंत्रालय के अधिकारियों और कर्मचारियों को स्वच्छता नियमों का अनुपालन करने के लिए प्रेरित किया और इस बारे में शपथ भी दिलायी. उन्होंने कहा कि यदि देश के 125 करोड़ नागरिक यह संकल्प ले लें कि वे न तो स्वयं गंदगी फैलाएंगे और न ही अन्य किसी को ऐसा करने देंगे, तो स्वच्छ भारत अभियान सफल हो जाएगा. मंत्री ने कहा कि स्वच्छता को प्रत्येक व्यक्ति के दायित्व के रूप में देखना होगा. यह सिर्फ उन कार्मिकों की जिम्मेदारी नहीं है, जो सफाई कार्यों में लगे हुए हैं.
स्वच्छता पखवाड़े के दौरान एक सेमिनार का भी आयोजन किया गया, जिसका विषय था ‘‘कचरे से संपदा’’. विशेष स्वच्छता अभियान के रूप में श्री टमटा ने इस पखवाड़े के दौरान दिल्ली स्थित पावरलूम सर्विस सेंटर और हरिद्वार स्थित रेशम उद्योग का दौरा भी किया. पखवाड़े के दौरान राष्ट्रीय फैशन प्रौद्योगिकी संस्थान ने ‘‘कचरे से संपदा’’ के बारे में फिल्म बनायी और अपने विद्यार्थियों को प्रेरित किया कि वे स्वयं सेवकों के रूप सभी बुनकर सेवा केन्द्रों में जायें और स्वच्छता गतिविधियों के लिए गठित युवाओं की टीमों का नेतृत्व करें. स्वच्छता अभियान के रूप में कार्यालय उपकरणों की सफाई, सामान्य स्थलों और सार्वजनिक क्षेत्रों की सफाई, खराब साजो-सामान का निपटान और टूटे हुए सामान की मरम्मत, पुरानी फाइलों और रिकॉर्डों का निस्तारण जैसी गतिविधियों का आयोजन सभी कार्यालय परिसरों में किया गया.