विशेष लेख


Special Article Volume-36

स्वच्छता पखवाड़ा

स्वच्छ भारत मिशन (एसबीएम) की शुरूआत भारत के माननीय प्रधानमंत्री ने 2019 में महात्मा गांधी की 150वीं जयंती तक स्वच्छ भारत का लक्ष्य हासिल करने के जन आंदोलन के तौर पर 2 अक्तूबर, 2014 को की थी. प्रक्रिया के भाग के तौर पर पेयजल और स्वच्छता मंत्रालय  ने नवंबर, 2016 का पहला पखवाड़ा (1-15 नवंबर, 2016) स्वच्छता गतिविधियां संचालित करने को समर्पित किया. विभाग और सार्वजनिक क्षेत्र के उपक्रम स्वच्छता मिशन को आगे बढ़ाने के लिये अनेक गतिविधियां संचालित करने के वास्ते पूरी तरह से जुट गये. स्वच्छता पखवाड़ा के दौरान स्वच्छता मिशन संचालित करने के लिये एक कार्य योजना बनाई गई. पखवाड़े को 20 नवंबर तक विस्तारित कर दिया गया ताकि इसे 20 नवंबर को आयोजित एयरटेल मैराथन से जोड़ा जा सके जो विशेष तौर पर स्वच्छता और इसके बारे में जागरूकता फैलाने पर केंद्रित थी.

दूरसंचार विभाग और इसके सार्वजनिक क्षेत्र के उपक्रम अर्थात भारत संचार निगम लिमिटेड (बीएसएनएल), महानगर टेलीफोन निगम लिमिटेड (एमटीएनएल), इंडियन टेलीफोन इंडस्ट्रीज़ लिमिटेड (आईटीआई लिमि.), टेलीकॉम कंसलटेंट्स इंडिया लिमिटेड (टीसीआईएल) और सेंटर फॉर डेवलपमेंट ऑफ टेलीमैटिक्स (सी-डॉट) ने स्वच्छता अभियान में सक्रिय भाग लिया और न केवल कार्यालय परिसरों और निकटवर्ती क्षेत्रों में साफ-सफाई की, बल्कि अपने शहरों के विभिन्न स्थानों में भी साफ-सफाई की. साफ-सफाई का कार्य कार्यालय चैम्बरों, उपकरणों, पुस्तकालय, कैंटीन, अवांछित रिकार्डों, पगडंडियां, कोरीडोरों, शौचालयों आदि पर केंद्रित था. सभी अधिकारियों और कर्मचारियों की सहभागिता के परिणामस्वरूप स्वच्छता के स्तर में महत्वपूर्ण सुधार हुआ है. इस प्रक्रिया को जारी रखा जायेगा ताकि अंतरों को दूर किया जा सके और स्वच्छता के मानदंडों को बनाये रखा जा सके.

क्वार्टरों और गेस्ट हाउसों के निरीक्षण के अलावा स्वच्छता के लिये बीएसएनएल और एमटीएनएल के टेलीफोन एक्सचेजों (27,600) की विशेष तौर पर पहचान की गई. इन एक्सचेंजों और सुविधाओं की उनके प्रवेशों और उपकरणों की दृष्टि से साफ-सफाई की गई. यह प्रक्रिया जारी रहेगी. देश भर में अनेक स्थानों पर स्वच्छता अभियान चलाया गया, जिनके नाम हैं:

1.सिल्वासा, दमन, गंगटोक, जबलपुर, गोवा, मुंबई और विभिन्न अन्य स्थानों के टेलीफोन एक्सचेंज.

2.चेन्नई में मरीन बीच

3.लखनऊ में इमामबाड़ा

4.कोलकाता में गंगा सागर

5.मुंबई में गेटवे ऑफ इंडिया

6.कृष्णराजपुरम सब्जी मार्किट, बंगलुरू

7.दिल्ली में अशोक रोड, नेहरू प्लेस अंडरपास और कालकाजी

8.मुंबई में जुहू बीच

9.दमन में जेट्टी

10.बड़ी संख्या में अन्य स्थानों पर भी अभियान चलाया गया.

स्वच्छता के बारे में जागरूकता फैलाने के लिये पेयजल और स्वच्छता मंत्रालय द्वारा तैयार किये गये संदेश देश भर में मोबाइल उपभोक्ताओं को भेजे गये.

कुछेक टेलीफोन सेवा प्रदाताओं ने भी स्वच्छता अभियान में योगदान किया. मैसर्स भारती एयरटेल ने 20 नवंबर, 2016 को मैराथन का आयोजन किया जो कि विशेष तौर पर स्वच्छता पर आधारित थी. मैसर्स रिलायंस जियो, मैसर्स रिलायंस कम्यूनिकेशन्स लिमिटेड, मैसर्स टाटा टेलीसर्विसेज और मैसर्स आइडिया सैल्यूलर लिमिटेड ने देश भर में अपने कार्यालय परिसरों में साफ-सफाई की और स्वच्छता शपथ ली, श्रम दान किया और स्वच्छता पर कई अन्य महत्वपूर्ण गतिविधियां संचालित कीं. दूरसंचार विभाग ने घोषणा की है कि वह इस तरह के स्वच्छता अभियान वर्ष भर जारी रखेगा.