विशेष लेख


VOLUME-38

स्वच्छता पखवाड़ा
नोएडा में स्वच्छ-एबिलिटी
रन-2016’  का आयोजन

रक्षा मंत्रालय ने दिसंबर 1 से 15, 2016 के दौरान स्वच्छता पखवाड़ा मनाया. इस दौरान 7 शहरों में 7 दिनों तक स्वच्छ-एबिलिटी रन-2016’ आयोजित की गई, जिसमें अंतिम 10 किलोमीटर की दौड़ हाल ही में अंतर्राष्ट्रीय विकलांग व्यक्ति दिवसमनाने के संदर्भ में पाथवेज़ स्कूल, नोएडा में संपन्न हुई. प्रत्येक शहर में दौड़ को हरी झंडी दिखाने के लिए वीर नारियों’ (वार विडोज़) को सम्मानित अतिथि के रूप में आमंत्रित किया गया था. इस अवसर पर करगिल युद्ध के नायक कैप्टन अनुज नैय्यर, एमवीसी (महा वीर चक्र) की माताजी श्रीमती मीना नैय्यर, पाथवेज स्कूल नोएडा में आयोजित कार्यक्रम में सम्मानित अतिथि थीं.

दौड़ आयोजित करने का विशिष्ट सुझाव इंडियन ब्लेड मैराथन धावक और करगिल युद्ध के वरिष्ठ योद्धा मेजर डीपी सिंह द्वारा दिया गया, जिसका भारतीय सेना ने समर्थन किया. इस दौड़ का लक्ष्य भिन्न दृष्टि से सक्षम व्यक्तियों का आत्मविश्वास बढ़ाना था, जिसका आयोजन चंडीगढ़, अम्बाला, कुरुक्षेत्र, करनाल, पानीपत, सोनीपत और राष्ट्रीय राजधानी क्षेत्र (एनसीआर) में ऐतिहासिक जीटी रोड के साथ-साथ किया गया.

स्वच्छ एबिलिटी रन-2016’ एक बेजोड़ प्रतियोगिता थी, जिसने दो महत्वपूर्ण सामाजिक लक्ष्यों को उज़ागर किया। इनमें पहला लक्ष्य विकलांग व्यक्तियों के समावेशन के साथ उनकी क्षमताओं को प्रदर्शित करना और दूसरा लक्ष्य स्वच्छता के प्रति लोगों में सामाजिक दायित्व और जागरूकता पैदा करने के लिए दिव्यांगजनके नेतृत्व में स्वच्छता अभियानसंचालित करना था, ताकि एक सुदृढ़ संदेश सम्प्रेषित किया जा सके. इस लक्ष्य के लिए दिव्यांगजनों ने दौड़ में हिस्सा लेने और स्वच्छता अभियान का नेतृत्व करने के लिए अपनी शारीरिक अक्षमताओं को चुनौती दी. करीब 10,000 व्यक्तियों ने इस अभियान में हिस्सा लिया, जिनमें दिव्यांगजन, वरिष्ठ नागरिक और स्कूली बच्चे शामिल थे. इस चुनौती को दूर करने के प्रयास में नोएडा में 2,200 लोगों ने दौड़ में हिस्सा लिया.

स्वच्छ एबिलिटी रन-2016’ के समापन के अवसर पर 4 दिसंबर, 2016 को आयुर्विज्ञान ऑडिटोरियम, आरआर अस्पताल, नई दिल्ली में एक ग्रैंड फिनाले समारोह आयोजित किया गया.

सेना ने स्वच्छता के संदेश भेजे

 

जम्मू कश्मीर में भारतीय सेना ने करगिल के सीमावर्ती क्षेत्रों से राष्ट्र को स्वच्छता और सफाई के संदेश सम्प्रेेषित किए. भारतीय सेना ने डिग्री कॉलेज, करगिल और आईटीआई, करगिल के सहयोग से डिग्री कॉलेज और आईटीआई परिसरों में स्वच्छ भारत अभियान चलाया। अभियान का उद्घाटन करगिल के डीएफओ खालिद अमीन मेहता ने किया, जिन्होंने डिग्री कॉलेज और आईटीआई के स्टाफ  और विद्यार्थियों के सहयोग से परिसर में झाड़ू लगाई.