विशेष लेख


Special Article 42

देशभर में छावनी बोर्डों ने स्वच्छता अभियान चलाया

आनंद सौरभ

स्वच्छ भारत के गांधी जी के सपने को 2 अक्तूबर, 2019 तक हासिल करने के प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी के आह्वान पर कार्रवाई करते हुए देशभर में छावनी बोर्डों ने रक्षा सम्पदा महानिदेशालय (जीडीडीई) के तत्वावधान में पिछले महीने 1 दिसंबर से 15 दिसंबर तक स्वच्छ भारत अभियान चलाया. हाल ही में नई दिल्ली में संवाददाता सम्मेलन को संबोधित करते हुए रक्षा मंत्री श्री मनोहर पर्रिकर ने स्वच्छ भारत अभियान की धारणा को अमली जामा पहनाने में योगदान के लिए डीजीडीई के प्रयासों की सराहना की. मंत्री ने बताया कि पखवाड़े के दौरान डीजीडीई अपनी छावनियों से सीवेज ट्रीटमेंट प्लांटों के जरिए करीब 10,800 मीट्रिक टन कचरे का निपटान करने में सफल रहा. उन्होंने कहा कि यह अपने में एक बड़ी उपलब्धि है. इस अवसर पर रक्षा मंत्री ने पखवाड़े के दौरान छावनियों में स्वच्छ भारत अभियानके बारे में एक पुस्तिका का विमोचन भी किया. अपने स्वागत भाषण में अपर महानिदेशक, डीजीडीई श्री पी. डेनियल ने अपने अंतर्गत 62 अधिसूचित छावनियों में स्वच्छता पखवाड़ा के सफल कार्यान्वयन से संबंधित गतिविधियों का लेखा जोखा प्रस्तुत किया. उन्होंने कहा कि छावनी बोर्ड अब गोवा में प्रचालित प्रणाली की तर्ज पर अपने क्षेत्रों में ठोस कचरा प्रबंधन प्रणाली अपनाने का प्रयास कर रहे हैं. बोर्डों ने आधुनिक बायो-डाइजेस्टर शौचालय भी अपनाए हैं, जिनका विकास डीआरडीओ द्वारा किया गया है. उन्होंने कहा कि शहरी विकास मंत्रालय के दिशा निर्देशों के अनुसार सभी छावनियों को खुले में शौच जाने से मुक्तघोषित करने के हर संभव प्रयास किए जा रहे हैं. श्री डेनियल ने कहा कि जांच के बाद इस बात की पुष्टि हुई कि किसी भी छावनी में कोई अस्वच्छ शौचालय नहीं मिला और पखवाड़े के दौरान 171 शौचालयों को साफ किया गया. उन्होंने यह भी कहा कि 762 किलोमीटर नालों और सीवरों की सफाई की गई. उन्होंने कहा कि सडक़ों की गहन सफाई की गई और पखवाड़े के दौरान सडक़ किनारे स्थित पेड़ों की छंटाई की गई तथा ट्रेंचिंग ग्राउंड का भलीभांति प्रंबधन किया गया.

 

स्वच्छता अभियान के बारे में अधिक जागरूकता पैदा करने के लिए डीजीडीई ने अब निर्णय किया है कि सभी छावनी बोर्डों द्वारा स्वच्छ छावनी-स्वस्थ छावनीके लक्ष्य को हासिल करने के लिए ऐसी ही गतिविधियां समय समय पर संचालित की जाएंगी ताकि स्वच्छ भारत अभियान की गति बनाए रखी जा सके. उन्होंने बताया कि मिनी मैराथन और ड्राइंग/पेंटिंग प्रतियोगिता के माध्यम से अभियान के संदेश का प्रचार भी किया जाएगा, जिनका आयोजन गणतंत्र दिवस समारोह के हिस्से के रूप में क्रमश: 15 और 22 जनवरी, 2017 को किया जाएगा. समारोह में रक्षा राज्य मंत्री डॉ. सुभाष भामर, सचिव (रक्षा उत्पादन) श्री ए के गुप्ता, सचिव (भूतपूर्व सैनिक कल्याण) श्री प्रभु दयाल मीणा, रक्षा संपदा महानिदेशक श्री जोगेश्वर शर्मा और अपर सचिव (रक्षा मंत्रालय) श्री जेआरके राव ने भी हिस्सा लिया.